Breaking News
Home / Business व्यापार / Companies Like Amazon Facebook Google Are Investing In India Due To Favourable Opportunities – भारत में अवसर भुनाने के लिए अमेजन, गूगल व फेसबुक जैसी दिग्गज कंपनियां कर रहीं निवेश – GoIndiaNews

Companies Like Amazon Facebook Google Are Investing In India Due To Favourable Opportunities – भारत में अवसर भुनाने के लिए अमेजन, गूगल व फेसबुक जैसी दिग्गज कंपनियां कर रहीं निवेश – GoIndiaNews

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Sat, 01 Aug 2020 03:43 PM IST

निवेश (सांकेतिक तस्वीर)
– फोटो : pixabay

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनियाभर की कंपनियों को नुकसान हुआ है। विश्व की दिग्गज टेक कंपनियां अमेजन, फेसबुक और अल्फाबेट के अप्रैल-जून तिमाही के नतीजे पेश हो गए हैं। इस बीच भारत के लिए एक अच्छी खबर ये है कि अमेजन, फेसबुक और अल्फाबेट ने भारत का सबसे बड़े निवेश क्षेत्र के रूप में उल्लेख किया है। भारत में उभर रहे अवसरों को भुनाने के ये कंपनियां निवेश कर रही हैं। ये कंपनियां भागीदारी का लाभ उठाकर देश में तेजी से उभर रहे कारोबारी अवसरों को भुनाने वाली हैं और यहां से प्राप्त अनुभवों को अन्य बाजारों में ले जाने वाली हैं।

फेसबुक 
कंपनियों ने अपने-अपने निवेशकों के साथ हुई बातचीत में भारतीय बाजार के महत्व को रेखांकित किया है। यानी विदेशी कंपनियां भारत में निवेश करने के लिए गंभीर हैं। फेसबुक ने भारत में उभर रहे अवसरों को भुनाने के लिए मुकेश अंबानी की जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश किया है। इस संदर्भ में फेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मार्क जुकरबर्ग ने जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का जिक्र करते हुए कहा कि उनकी कंपनी भारत में अवसरों को लेकर उत्साहित है। उन्होंने कहा कि यह भागीदारी भारत में हजारों किराना दुकानों और छोटे व्यवसायों को व्हाट्सएप पर लाने तथा कारोबार करने में मदद करेगी। 

अल्फाबेट 
गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट के प्रमुख सुंदर पिचाई ने निवेशकों से बात करते हुए कहा कि उनकी कंपनी ने भारतीय इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की मदद के लिए ‘गूगल फॉर इंडिया’डिजिटल कोष की घोषणा की है। इस प्रयास के माध्यम से, गूगल अगले पांच से सात वर्षों में लगभग 10 अरब डॉलर (75 हजार करोड़ रुपये) का निवेश करेगी। पिचाई ने कहा, ‘हम स्थानीय भाषाओं में जानकारियों को उपलब्ध कराने में मदद करेंगे और स्वास्थ्य, शिक्षा व कृषि जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में प्रौद्योगिकी तथा कृत्रिम मेधा का प्रयोग करेंगे। जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश इस कोष के तहत पहली साझेदारी है और यह भारत में लाखों उपयोगकर्ताओं को स्मार्टफोन मुहैया कराएगी।’

अमेजन
जेफ बेजोस की कंपनी अमेजन के सीएफओ ब्रायन टी ओल्सावस्की ने इस संदर्भ में कहा कि निवेश के लिए भारत सबसे प्रमुख है। उन्होंने कहा कि, हम नए देशों में निवेश कर रहे हैं। लेकिन अमेजन द्वारा सबसे अधिक निवेश भारत में होगा। मालूम हो कि कंपनी ने हाल ही में मध्य पूर्व, ब्राजील, तुर्की और ऑस्ट्रेलिया में भी निवेश किया है, लेकिन भारत की तुलना में यह कम है। वहीं कंपनी के डायरेक्टर इंवेस्टर रिलेशंस, डेव फिल्डेज ने कहा कि, अमेजन भारत में बिक्री कारोबार पर ध्यान केंद्रित कर रही है। इतना ही नहीं, कंपनी एमएसएमई के व्यापार को डिजिटाइज करने पर भी काम कर रही है।

कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनियाभर की कंपनियों को नुकसान हुआ है। विश्व की दिग्गज टेक कंपनियां अमेजन, फेसबुक और अल्फाबेट के अप्रैल-जून तिमाही के नतीजे पेश हो गए हैं। इस बीच भारत के लिए एक अच्छी खबर ये है कि अमेजन, फेसबुक और अल्फाबेट ने भारत का सबसे बड़े निवेश क्षेत्र के रूप में उल्लेख किया है। भारत में उभर रहे अवसरों को भुनाने के ये कंपनियां निवेश कर रही हैं। ये कंपनियां भागीदारी का लाभ उठाकर देश में तेजी से उभर रहे कारोबारी अवसरों को भुनाने वाली हैं और यहां से प्राप्त अनुभवों को अन्य बाजारों में ले जाने वाली हैं।

फेसबुक 

कंपनियों ने अपने-अपने निवेशकों के साथ हुई बातचीत में भारतीय बाजार के महत्व को रेखांकित किया है। यानी विदेशी कंपनियां भारत में निवेश करने के लिए गंभीर हैं। फेसबुक ने भारत में उभर रहे अवसरों को भुनाने के लिए मुकेश अंबानी की जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश किया है। इस संदर्भ में फेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मार्क जुकरबर्ग ने जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का जिक्र करते हुए कहा कि उनकी कंपनी भारत में अवसरों को लेकर उत्साहित है। उन्होंने कहा कि यह भागीदारी भारत में हजारों किराना दुकानों और छोटे व्यवसायों को व्हाट्सएप पर लाने तथा कारोबार करने में मदद करेगी। 

अल्फाबेट 
गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट के प्रमुख सुंदर पिचाई ने निवेशकों से बात करते हुए कहा कि उनकी कंपनी ने भारतीय इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की मदद के लिए ‘गूगल फॉर इंडिया’डिजिटल कोष की घोषणा की है। इस प्रयास के माध्यम से, गूगल अगले पांच से सात वर्षों में लगभग 10 अरब डॉलर (75 हजार करोड़ रुपये) का निवेश करेगी। पिचाई ने कहा, ‘हम स्थानीय भाषाओं में जानकारियों को उपलब्ध कराने में मदद करेंगे और स्वास्थ्य, शिक्षा व कृषि जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में प्रौद्योगिकी तथा कृत्रिम मेधा का प्रयोग करेंगे। जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश इस कोष के तहत पहली साझेदारी है और यह भारत में लाखों उपयोगकर्ताओं को स्मार्टफोन मुहैया कराएगी।’

अमेजन
जेफ बेजोस की कंपनी अमेजन के सीएफओ ब्रायन टी ओल्सावस्की ने इस संदर्भ में कहा कि निवेश के लिए भारत सबसे प्रमुख है। उन्होंने कहा कि, हम नए देशों में निवेश कर रहे हैं। लेकिन अमेजन द्वारा सबसे अधिक निवेश भारत में होगा। मालूम हो कि कंपनी ने हाल ही में मध्य पूर्व, ब्राजील, तुर्की और ऑस्ट्रेलिया में भी निवेश किया है, लेकिन भारत की तुलना में यह कम है। वहीं कंपनी के डायरेक्टर इंवेस्टर रिलेशंस, डेव फिल्डेज ने कहा कि, अमेजन भारत में बिक्री कारोबार पर ध्यान केंद्रित कर रही है। इतना ही नहीं, कंपनी एमएसएमई के व्यापार को डिजिटाइज करने पर भी काम कर रही है।

Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

The Vaccine Is The Future, While The Economic Plight Is Our Present! America And Japan Economy In Crisis – ‘वैक्सीन’ भविष्य है, जबकि आर्थिक बदहाली हमारा वर्तमान! संकट में अमेरिका और जापान की अर्थव्यवस्था – GoIndiaNews

कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने वाली कई वैक्सीन आने की खबरों से दुनिया में लोगों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *