Breaking News
Home / Business व्यापार / Electricity Consumption Expected To Be Normal In August Decline In July – देश में बढ़ रही आर्थिक गतिविधियां, बिजली की मांग में सुधार – GoIndiaNews

Electricity Consumption Expected To Be Normal In August Decline In July – देश में बढ़ रही आर्थिक गतिविधियां, बिजली की मांग में सुधार – GoIndiaNews

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

आर्थिक गतिविधियां बढ़ने से जुलाई में बिजली की खपत 113.48 अरब यूनिट रही है। इस तरह बिजली की खपत में गिरावट कम होकर 2.64 फीसदी रह गई। इन आंकड़ों से संकेत मिलता है कि अगस्त में बिजली की खपत अपने सामान्य स्तर पहुंच जाएगी। पिछले साल जुलाई में बिजली की खपत 116.48 अरब यूनिट रही थी। 

बिजली की मांग में सुधार
बिजली मंत्रालय के ताजा आंकड़ों से पता चलता है कि सरकार द्वारा आर्थिक गतिविधियों के लिए अंकुशों में ढ़ील तथा गर्मियां बढ़ने के साथ ही बिजली की मांग सुधर रही है। सरकार ने कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए 25 मार्च 2020 से देशभर में लॉकडाउन लगाया था। इससे बिजली की वाणिज्यिक और औद्योगिक मांग और उपभोग में भारी गिरावट आई थी। 

पहले इतनी थी खपत
जून में बिजली की खपत 10.93 फीसदी घटकर 105.08 अरब यूनिट रही थी। जून, 2019 में यह 117.98 अरब यूनिट थी। इसी तरह देश में मई में बिजली की खपत 14.86 फीसदी तथा अप्रैल में 23.21 फीसदी घटी थी। इस साल अप्रैल, मई और जून में कोविड-19 की वजह से लागू पाबंदियों के चलते बिजली की वाणिज्यिक और औद्योगिक मांग में काफी गिरावट आई थी। 

सामान्य स्तर पर पहुंचने की उम्मीद 
उद्योग के एक विशेषज्ञ ने कहा कि, ‘बिजली की खपत में गिरावट कम होकर 2.6 फीसदी पर आ गई है। अगस्त में इसके सामान्य स्तर पर पहुंचने की उम्मीद है।’ जुलाई में व्यस्त समय की बिजली मांग यानी दिन में बिजली की सबसे अधिक आपूर्ति, 170.54 गीगावॉट रही। यह एक साल पहले के 175.12 गीगावॉट से 2.61 फीसदी कम है। मई में व्यस्त समय की बिजली मांग 166.42 गीगावॉट रही थी, जो एक साल पहले के 182.55 गीगावॉट से 8.82 फीसदी कम है। अप्रैल में यह 132.77 गीगावॉट रही थी। यह एक साल पहले के 176.81 गीगावॉट से करीब 25 फीसदी कम है।

आर्थिक गतिविधियां बढ़ने से जुलाई में बिजली की खपत 113.48 अरब यूनिट रही है। इस तरह बिजली की खपत में गिरावट कम होकर 2.64 फीसदी रह गई। इन आंकड़ों से संकेत मिलता है कि अगस्त में बिजली की खपत अपने सामान्य स्तर पहुंच जाएगी। पिछले साल जुलाई में बिजली की खपत 116.48 अरब यूनिट रही थी। 

बिजली की मांग में सुधार

बिजली मंत्रालय के ताजा आंकड़ों से पता चलता है कि सरकार द्वारा आर्थिक गतिविधियों के लिए अंकुशों में ढ़ील तथा गर्मियां बढ़ने के साथ ही बिजली की मांग सुधर रही है। सरकार ने कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए 25 मार्च 2020 से देशभर में लॉकडाउन लगाया था। इससे बिजली की वाणिज्यिक और औद्योगिक मांग और उपभोग में भारी गिरावट आई थी। 

पहले इतनी थी खपत
जून में बिजली की खपत 10.93 फीसदी घटकर 105.08 अरब यूनिट रही थी। जून, 2019 में यह 117.98 अरब यूनिट थी। इसी तरह देश में मई में बिजली की खपत 14.86 फीसदी तथा अप्रैल में 23.21 फीसदी घटी थी। इस साल अप्रैल, मई और जून में कोविड-19 की वजह से लागू पाबंदियों के चलते बिजली की वाणिज्यिक और औद्योगिक मांग में काफी गिरावट आई थी। 

सामान्य स्तर पर पहुंचने की उम्मीद 
उद्योग के एक विशेषज्ञ ने कहा कि, ‘बिजली की खपत में गिरावट कम होकर 2.6 फीसदी पर आ गई है। अगस्त में इसके सामान्य स्तर पर पहुंचने की उम्मीद है।’ जुलाई में व्यस्त समय की बिजली मांग यानी दिन में बिजली की सबसे अधिक आपूर्ति, 170.54 गीगावॉट रही। यह एक साल पहले के 175.12 गीगावॉट से 2.61 फीसदी कम है। मई में व्यस्त समय की बिजली मांग 166.42 गीगावॉट रही थी, जो एक साल पहले के 182.55 गीगावॉट से 8.82 फीसदी कम है। अप्रैल में यह 132.77 गीगावॉट रही थी। यह एक साल पहले के 176.81 गीगावॉट से करीब 25 फीसदी कम है।

Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

After Permission Of Government Only Neighboring Countries Will Invest In Commercial Mining – सरकार की अनुमति पर ही पड़ोसी देश कर सकेंगे वाणिज्यिक खनन में निवेश – GoIndiaNews

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 04 Aug 2020 03:55 AM IST पढ़ें …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *