Breaking News
Home / India भारत / Wuhan flights What are the chances of getting infected AI crew asked before conquering fear | भारतीयों को चीन से लाने वाले पायलट ने जाने से पहले पूछे थे कई सवाल | nation – News in Hindi – GoIndiaNews

Wuhan flights What are the chances of getting infected AI crew asked before conquering fear | भारतीयों को चीन से लाने वाले पायलट ने जाने से पहले पूछे थे कई सवाल | nation – News in Hindi – GoIndiaNews

भारतीयों को चीन से लाने वाले पायलट ने जाने से पहले पूछा था- हमारे परिवारों का क्या होगा?

प्रत्येक उड़ान में एअर इंडिया का 20 सदस्यीय चालक दल, डॉक्टरों और सहायक कर्मचारियों सहित कुल 34 लोग शामिल थे. (File Photo)

जब पहली उड़ान उतर रही थी तो उन्हें “भयानक अहसास” हो रहा था. सिंह ने कहा कि सड़कें और इमारतें अच्छी तरह से जगमगा रही थीं लेकिन शहर में सन्नाटा पसरा हुआ था, क्योंकि आसपास कोई इंसान नहीं था.

नई दिल्ली. चीन (China) के कोरोना वायरस (Corona Virus) से प्रभावित वुहान (Wuhan) से भारतीयों को चालक दल के 19 सदस्यों के साथ वापस लाने वाले एअर इंडिया (Air India) के कप्तान अमिताभ सिंह ने जाने से पहले पूछा था कि “हमारे संक्रमित होने की कितनी संभावना है?, हमारे परिवारों का क्या होगा?”

राष्ट्रीय वाहक में परिचालन के निदेशक सिंह ने डबल-डेकर बोइंग 747 विमान को कार्यकारी कमांडर के तौर पर उड़ाया था. यह विमान 31 जनवरी और एक फरवरी को दो बार में वुहान में फंसे भारतीयों को लेकर आया था. इसमें 647 भारतीय और मालदीव के सात नागरिक थे.

‘विमान उतारते हुए हो रहा था भयानक एहसास’
जब पहली उड़ान उतर रही थी तो उन्हें “भयानक अहसास” हो रहा था. सिंह ने कहा कि सड़कें और इमारतें अच्छी तरह से जगमगा रही थीं लेकिन शहर में सन्नाटा पसरा हुआ था, क्योंकि आसपास कोई इंसान नहीं था.एअर इंडिया ने भले ही पहले भी फंसे हुए लोगों के बाहर निकाला हो लेकिन यह मेडिकल आपातकाल में वुहान से लोगों को लाना अपनी तरह का पहला अभियान था.

‘डर पर पाई जीत’
उड़ानों में सवार एअर इंडिया के एक कर्मी ने कहा कि हमने अपने डर पर विजय प्राप्त की क्योंकि हमें नहीं पता था कि क्या अपेक्षित है. उन्होंने वुहान से निकाले गए लोगों की भी प्रशंसा की और कहा कि एक भी शख्स ने दुर्व्यवहार नहीं किया.सात दिन तक अलग रहने के बाद इस हफ्ते काम पर लौटे सिंह ने ‘पीटीआई भाषा’ से कहा कि इन उड़ानों में सबसे अच्छी बात यह थी कि चालक दल के किसी भी सदस्य ने जाने से इनकार नहीं किया बल्कि वे इसे करने के लिए अधिक तैयार थे.

चालक दल के पास थे कई सवाल
बचाव उड़ानों के लिए अल्प सूचना में तैयारी के बारे में बात करते हुए सिंह ने कहा कि चालक दल के सदस्यों के पास सवाल और आशंकाएं थीं, जिनका संतोषजनक जवाब दिया गया. सिंह ने कहा, “ जोखिम क्या हैं, हमारे संक्रमित होने की कितनी संभावना है, उड़ान के बाद हमारे साथ क्या होगा, हमारे परिवारों का क्या होगा? ये सवाल थे.”

सिंह ने बताया कि उन्होंने डॉक्टरों से सावधानी बरतने को लेकर बात की और उनके सभी सवालों के जवाब दिए गए.

उन्होंने कहा,“ यह एक मानवीय उड़ान है. हम यहां जरूरत की इस घड़ी में मदद करने और आपको वापस भारत ले जाने के लिए आए हैं… अपनी आवाजाही को कम से कम रखें और चालक दल तभी आएगा जब आप अस्वस्थ होंगे. दिल्ली के लिए उड़ान भरने से पहले विमान में ये घोषणाएं की गई थीं.”

प्रत्येक उड़ान में एअर इंडिया का 20 सदस्यीय चालक दल, डॉक्टरों और सहायक कर्मचारियों सहित कुल 34 लोग शामिल थे. विमान में 15 केबिन क्रू और पांच कॉकपिट क्रू थे, जिसमें सिंह भी शामिल थे.

ये भी पढ़ें-
कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इस सरकारी अस्पताल में होगा फ्री इलाज

कोरोना का संदिग्ध दिल्ली पहुंचा,कोलकाता में मिले 2 केस,मंत्री बोले-सरकार सतर्क

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: February 13, 2020, 11:29 PM IST

Source link

About admin

Check Also

निर्भया गैंगरेप के दोषी ने फांसी से बचने के लिए चली एक और चाल, दीवार पर पटका सिर | Nirbhaya gang rape case convict vinay injured in tihar jail | nation – News in Hindi – GoIndiaNews

दोषी विनय की फाइल फोटो साल 2012 में दक्षिण दिल्ली में एक चलती बस में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *