Breaking News
Home / Business व्यापार / Get FD at post office soon rates may decrease interest is getting high by 2 percent – GoIndiaNews

Get FD at post office soon rates may decrease interest is getting high by 2 percent – GoIndiaNews

डाकघर की सावधि जमा (FD) और आरडी सहित अन्य जमाओं पर करीब दो फीसदी तक ऊंचा ब्याज मिल रहा है। रिजर्व बैंक सरकार से डाकघर की जमाओं पर ब्याज घटाने के लिए कई बार कह चुका है। ऐसी उम्मीद है कि सरकार एक अप्रैल से इन जमाओं पर ब्याज दरें घट सकती हैं। ऐसे में आप अभी डाकघर की एफडी या किसान विकास पत्र जैसी जमाओं में निवेश कर ऊंची दरों का फायदा उठा सकते हैं।

एफडी पर 1.7 फीसदी ज्यादा ब्याज

डाकघर की पांच साल की एफडी पर ब्याज 7.7 फीसदी है। जबकि देश का सबसे बड़ा बैंक एसबीआई पांच साल की एफडी पर महज छह फीसदी ब्याज दे रहा है। इस तरह डाकघर की एफडी पर 1.7 फीसदी ऊंचा ब्याज मिल रहा है। वहीं एक से तीन साल की डाकघर की एफडी पर 6.9 फीसदी ब्याज मिल रहा है जबकि एसबीआई छह फीसदी ब्याज दे रहा है। ऐसे में दरें घटने से पहले डाकघर में एफडी कराकर अभी ज्यादा लाभ उठा सकते हैं।

आरडी से करें शुरुआत

डाकघर की पांच साल की रेकरिंग डिपॉजिट (आरडी) पर ब्याज दर 7.2 फीसदी है। इसपर बैंक की एफडी से करीब 1.2 फीसदी अधिक ब्याज मिल रहा है। डाकघर में आप 10 रुपये में आरडी खाता खुलवा सकते हैं। इसमें एक साल बाद एक बार राशि निकालने की सुविधा है। इसमें 50 फीसदी तक राशि निकाल सकते हैं। वित्तीय सलाहकारों का कहना है कि निवेश के लिए बड़ी राशि का इंतजार करने की बजाय आप आरडी के रूप में छोटी बचत से निवेश की शुरुआत कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: अगर SBI में है आपका खाता तो 28 फरवरी तक कर लें यह काम वर्ना बंद हो जाएगा अकाउंट

उनका कहना है कि जब आपके पास पांच साल या संबंधित अवधि में उससे पर्याप्त राशि जमा हो जाती है तो उसे अन्य ऊंचे रिटर्न वाले निवेश विकल्पों में लगा सकते हैं। आरडी का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे बचत की आदत पड़ जाती है। एक डाकघर से दूसरे डाकघर में आरडी खाता का हस्तांतरण भी करवा सकते हैं। 10 साल से कम उम्र के बच्चे के नाम अभिभावक आरडी खुलवा सकते हैं। 10 साल या उससे अधिक उम्र का बच्चा  खुद आरडी खुलवा सकता है और उसे संचालित कर सकता है।

एनएससी भी फायदेमंद

डाकघर पांच साल के राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (एनएससी) पर 7.9 ब्याज दे रहा है। इसमें निवेश की कोई अधिकतम सीमा नहीं है। आप पांच साल की परिपक्वता के बाद इसे दोबारा निवेश कर सकते हैं। सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ) के मुकाबले इसकी परिपक्वता अवधि कम होने से जरूरत पर इसे समय से पहले निकाल सकते हैं। अव्यस्क बच्चे के नाम से भी अभिभावक एनएससी में निवेश कर सकते हैं। आप एनएसएसी को बैंक में जमा कर उसके बदले कर्ज भी ले सकते हैं। 

किसान विकास पत्र का विकल्प

डाकघर में किसान विकास पत्र (केवीपी) पर 7.6 फीसदी ब्याज मिल रहा है। इसमें न्यूनतम निवेश की सीमा एक हजार रुपये है। यह एक हजार से 50 हजार रुपये वर्गमूल्य में उपलब्ध है। किसान विकास पत्र को आप जरूरत पड़ने पर 2.5 साल बाद भुना सकते हैं। 

सुकन्या खाता पर ज्यादा लाभ

सरकार ने सुकन्या समृद्धि खाता विशेषतौर पर बेटियों के लिए शुरू किया है। डाकघर में इसपर दर 8.4 फीसदी ब्याज मिल रहा है। वरिष्ठ नागरिक बचत योजना को छोड़कर अन्य तय अवधि वाले निवेश विकल्पों में  इसका ब्याज सबसे अधिक है।

यह भी पढ़ें: जानें कौन सा बैंक आपकी एफडी पर दे रहा सबसे ज्यादा ब्याज

10 साल से कम उम्र की बेटियों के लिए सुकन्या खाता खोल सकते हैं। 18 साल की होने पर 50 फीसदी राशि उच्च शिक्षा या शादी-विवाह के लिए निकालने सकते हैं। बेटी की उम्र 21 की होने पर सुकन्या खाता से पूरी राशि निकालने की छूट है। वरिष्ठ नागरिक की जमाओं पर 8.6 फीसदी ब्याज मिल रहा है।



Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

Government Officials With Corporate Middlemen Nexus Dent The Credibility Of Public And Private Sector Banks – अधिकारियों ने ही लगाया सरकारी बैंकों की साख को बट्टा, कॉरपोरेट बिचौलियों के साथ मिल कर किए ‘खेल’ – GoIndiaNews

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी। *Yearly …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *