Breaking News
Home / BREAKING NEWS / Annual Rate Of Inflation Based On Monthly Wpi In January 2020 – आम आदमी को झटका: खुदरा के बाद अब थोक महंगाई दर भी बढ़ी – GoIndiaNews

Annual Rate Of Inflation Based On Monthly Wpi In January 2020 – आम आदमी को झटका: खुदरा के बाद अब थोक महंगाई दर भी बढ़ी – GoIndiaNews

ख़बर सुनें

थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति के आधिकारिक आंकड़े शुक्रवार को जारी किए गए। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, थोक मूल्य पर आधारित मुद्रास्फीति जनवरी 2020 में 3.1 फीसदी पर आ गई है। साल 2019 की समान अवधि में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 2.76 फीसदी थी। इससे पिछले महीने दिसंबर में यह 2.59 फीसदी थी। 
 

लगातार तीन महीनों से हो रहा इजाफा

वहीं नवंबर में यह 0.58 फीसदी पर थी। अक्तूबर में यह 0.16 फीसदी थी, सितंबर में 0.33 फीसदी और अगस्त में यह 1.17 फीसदी थी। यानी लगातार तीन महीनों से इसमें इजाफा हो रहा है। महीने दर महीने के आधार पर जनवरी में थोक खाद्य महंगाई दर दिसंबर के 11.05 फीसदी के मुकाबले 10.12 फीसदी रही है। 

7.59 फीसदी पर पहुंची खुदरा महंगाई दर

खुदरा मुद्रास्फीति की बात करें, तो खाने-पीने का सामान महंगा होने से जनवरी में खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 7.59 फीसदी पर पहुंच गयी। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित खुदरा मुद्रास्फीति दिसंबर 2019 में 7.35 फीसदी रही थी। वहीं पिछले साल जनवरी महीने में यह 1.97 फीसदी रही थी।

खुदरा मुद्रास्फीति में यदि खाद्य मुद्रास्फीति की बात की जाए तो जनवरी 2020 में यह 13.63 फीसदी रही जबकि एक साल पहले जनवरी 2019 में इसमें 2.24 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी। हालांकि, यह दिसंबर 2019 के 14.19 फीसदी के मुकाबले कम हुई है।

बता दें कि रिजर्व बैंक ने इस महीने मौद्रिक नीति समीक्षा में ऊंची मुद्रास्फीति का हवाला देते हुए प्रमुख नीतिगत दर में कोई बदलाव नहीं किया था।

थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति के आधिकारिक आंकड़े शुक्रवार को जारी किए गए। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, थोक मूल्य पर आधारित मुद्रास्फीति जनवरी 2020 में 3.1 फीसदी पर आ गई है। साल 2019 की समान अवधि में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 2.76 फीसदी थी। इससे पिछले महीने दिसंबर में यह 2.59 फीसदी थी। 

 

लगातार तीन महीनों से हो रहा इजाफा

वहीं नवंबर में यह 0.58 फीसदी पर थी। अक्तूबर में यह 0.16 फीसदी थी, सितंबर में 0.33 फीसदी और अगस्त में यह 1.17 फीसदी थी। यानी लगातार तीन महीनों से इसमें इजाफा हो रहा है। महीने दर महीने के आधार पर जनवरी में थोक खाद्य महंगाई दर दिसंबर के 11.05 फीसदी के मुकाबले 10.12 फीसदी रही है। 

7.59 फीसदी पर पहुंची खुदरा महंगाई दर

खुदरा मुद्रास्फीति की बात करें, तो खाने-पीने का सामान महंगा होने से जनवरी में खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 7.59 फीसदी पर पहुंच गयी। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित खुदरा मुद्रास्फीति दिसंबर 2019 में 7.35 फीसदी रही थी। वहीं पिछले साल जनवरी महीने में यह 1.97 फीसदी रही थी।

खुदरा मुद्रास्फीति में यदि खाद्य मुद्रास्फीति की बात की जाए तो जनवरी 2020 में यह 13.63 फीसदी रही जबकि एक साल पहले जनवरी 2019 में इसमें 2.24 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी। हालांकि, यह दिसंबर 2019 के 14.19 फीसदी के मुकाबले कम हुई है।

बता दें कि रिजर्व बैंक ने इस महीने मौद्रिक नीति समीक्षा में ऊंची मुद्रास्फीति का हवाला देते हुए प्रमुख नीतिगत दर में कोई बदलाव नहीं किया था।



Source link

About admin

Check Also

violence in north east delhi continues on third day Commissioner of Police amulya patnaik says Miscreants will not be spared – Delhi Violence: उत्तर पूर्वी दिल्ली में लगातार तीसरे दिन भी नहीं सुधरे हालात, पुलिस कमिश्नर बोले – GoIndiaNews

संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के मुद्दे पर पूर्वोत्तर दिल्ली में मंगलवार को लगातार तीसरे दिन हिंसा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *