Breaking News
Home / Uttar Pradesh उत्तर प्रदेश / यूपी सरकार पर हाईकोर्ट तल्‍ख, पूछा- हाथरस के DM को अभी तक क्यों नहीं हटाया गया – GoIndiaNews

यूपी सरकार पर हाईकोर्ट तल्‍ख, पूछा- हाथरस के DM को अभी तक क्यों नहीं हटाया गया – GoIndiaNews

लड़की की मौत के बाद प्रशासन ने परिजनों की मर्जी के बगैर रातो-रात लाश जला दी थी.  (File Photo)

लड़की की मौत के बाद प्रशासन ने परिजनों की मर्जी के बगैर रातो-रात लाश जला दी थी. (File Photo)

अदालत ने राज्य सरकार के वकील एस. वी. राजू से पूछा कि मामले की जांच जारी है, ऐसे में क्या हाथरस के जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार को उनके पद पर बनाए रखना सही और तर्कसंगत है.

लखनऊ. इलाहाबाद उच्च न्यायालय (Allahabad High Court) के लखनऊ पीठ ने हाथरस (Hathras) में हुए बलात्कार और हत्याकांड के सिलसिले में बृहस्पतिवार को आदेश जारी करते हुए सरकार से संबंधित जिलाधिकारी को अभी तक न हटाए जाने के बारे में सवाल किया. अदालत ने सीबीआई से कहा है कि वह 25 नवंबर को मामले की अगली सुनवाई पर अदालत को यह बताए कि वह प्रकरण की जांच पूरी करने में कितना समय लेगी. न्यायमूर्ति पंकज मित्थल और न्यायमूर्ति राजन रॉय के पीठ ने गत दो नवंबर को मामले की सुनवाई करते हुए अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था, जिसे बृहस्पतिवार को अदालत की वेबसाइट पर सार्वजनिक किया गया.

अदालत ने राज्य सरकार के वकील एस. वी. राजू से पूछा कि मामले की जांच जारी है, ऐसे में क्या हाथरस के जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार को उनके पद पर बनाए रखना सही और तर्कसंगत है. पीठ ने राजू से पूछा कि क्या यह बेहतर नहीं होता कि मामले की जांच लंबित होने के दौरान जिलाधिकारी को कहीं और तैनात कर दिया जाता, ताकि मामले की स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच सुनिश्चित होने में कोई संदेह बाकी न रहे. इस पर राज्य सरकार के वकील ने अदालत को भरोसा दिलाया कि वह सरकार को अदालत की इस चिंता से अवगत कराएंगे और मामले की अगली सुनवाई पर इस बारे में लिए गए निर्णय की जानकारी देंगे.

अदालत ने अपने आदेश में सीबीआई के वकील अनुराग सिंह से मामले की अगली सुनवाई के दौरान प्रकरण की जांच की स्थिति रिपोर्ट पेश करने को कहा है. साथ ही यह भी पूछा है कि एजेंसी मामले की जांच में अभी और कितना समय लेगी. गौरतलब है कि पिछली 14 सितंबर को हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में 19 वर्षीय एक दलित युवती से अगड़ी जाति के चार युवकों ने कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया था. बाद में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी. इस मामले में पुलिस अधीक्षक समेत कई पुलिस अफसरों को निलंबित किया गया था.

लड़की के शव को कथित रूप से उसके परिजन की मर्जी के खिलाफ देर रात जला दिया गया था. अदालत ने इसका स्वत: संज्ञान लिया है. इस बारे में जिला प्रशासन का कहना है कि कानून व्यवस्था बिगड़ने की आशंका की वजह से लड़की का शव देर रात में जलाया गया था.



Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

तांडव प्रकरण में लखनऊ पुलिस की टीम मुंबई रवाना, निर्देशक और लेखक से करेगी पूछताछ – GoIndiaNews

तांड़व वेब सीरीज के खिलाफ दर्ज केस में कार्रवाई के लिए लखनऊ पुलिस मुंबई के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *