Breaking News
Home / India भारत / When the son came from Canada, he came to know that the hospital gave the body of the mother to someone else, the funeral was also done. | मां का शव लेने कनाडा से आया बेटा, अस्पताल ने बॉडी किसी और को दे दी थी, अंतिम संस्कार भी हो गया – GoIndiaNews

When the son came from Canada, he came to know that the hospital gave the body of the mother to someone else, the funeral was also done. | मां का शव लेने कनाडा से आया बेटा, अस्पताल ने बॉडी किसी और को दे दी थी, अंतिम संस्कार भी हो गया – GoIndiaNews

  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • When The Son Came From Canada, He Came To Know That The Hospital Gave The Body Of The Mother To Someone Else, The Funeral Was Also Done.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अहमदाबाद3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

मृतक लेखाबेन चंद (इनसेट में) के परिवार ने अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

  • बेटे ने कहा- आखिरी बार मां का चेहरा देखने के लिए मैंने 36 घंटे का सफर किया
  • बेटे के कनाडा से अहमदाबाद पहुंचने तक मोर्चरी में रखवाया गया था शव

अहमदाबाद के एक अस्पताल में स्टाफ की बड़ी लापरवाही सामने आई है। एलिस ब्रिज इलाके में स्थित वीएस हॉस्पिटल की मोर्चरी से एक वृद्धा का शव किसी दूसरे परिवार को सौंप दिया गया। इस परिवार ने शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया, लेकिन यह वृद्धा उनके परिवार की सदस्य नहीं थीं। पता तब चला, जब वृद्धा का बेटा कनाडा से शव लेने के लिए वीएस अस्पताल पहुंचा। बेटे को जब मोर्चरी में में शव नहीं मिला तो वो हैरान रह गया।

वेजलपुर में रहने वाली लेखाबेन चंद (65) का 11 नवंबर को देहांत हो गया था। बेटा कनाडा से आने वाला था। परिवार ने शव मोर्चरी में रखवा दिया था।

13 नवंबर को जब मृतका का बेटा अहमदाबाद पहुंचा और अस्पताल गया। वहां अस्पताल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि ‘शव की अदला-बदली हो गई’। उन्होंने बताया कि शव ले जाने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पर, सवाल ये है कि शव ले जाते समय ही उसकी पहचान क्यों नहीं की गई।

पुलिस ने उस व्यक्ति को अरेस्ट कर लिया है, जो लेखाबेन का शव ले गया था।

पुलिस ने उस व्यक्ति को अरेस्ट कर लिया है, जो लेखाबेन का शव ले गया था।

अस्पताल में CCTV कैमरे भी नहीं
लेखाबेन चंद के परिवार ने कहा कि अस्पताल में CCTV कैमरे नहीं हैं और उसने ऐसे शवों का कोई रिकॉर्ड नहीं रखा। ऐसे में शवों की अदला-बदली या गायब हो जाने की आशंका बढ़ गई है।

वृद्धा के बेटे अमित चंद ने कहा कि आखिरी बार अपनी मां का चेहरा देखने के लिए मैंने करीब 36 घंटे का सफर किया। यहां हमने उनके स्थान पर एक पुरुष का शव पाया। अधिकारियों के पास दस्तावेज नहीं हैं, जो हमने शव के साथ सौंपे थे। हमें कोई रसीद नहीं दी गई थी।

अस्पताल के बाहर जमा मृतका का परिवार।

अस्पताल के बाहर जमा मृतका का परिवार।

यहां सबसे ज्यादा हैरानी वाली बात यही है कि अगर अस्पताल स्टाफ से गलती हुई भी तो शव ले जाने वाले व्यक्ति ने भी महिला की पहचान क्यों नहीं की।

Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

ठंड और घने कोहरे के बाद अब उत्तर भारत में बारिश का अलर्ट – GoIndiaNews

Weather Forecast (आज का मौसम, 18 जनवरी): उत्तर भारत में एक बार फिर से मौसम का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *