Saturday, March 6, 2021
Breaking News
Home / India भारत / नहीं थम रहीं CM येडियुरप्पा की मुश्किलें, अब विभागों को लेकर नाराज हुए नए मंत्री – GoIndiaNews

नहीं थम रहीं CM येडियुरप्पा की मुश्किलें, अब विभागों को लेकर नाराज हुए नए मंत्री – GoIndiaNews

मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा. (फाइल फोटो: PTI)

मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा. (फाइल फोटो: PTI)

Karnataka Politics: राजस्व मंत्री आर अशोक ने कहा है कि सभी मतभेदों को सुलझा लिया गया है. उन्होंने बताया कि साथ में असंतुष्ट लोगों को दोबारा पोर्टफोलियो नहीं बदले जाने का वादा किया है.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 21, 2021, 7:06 PM IST

बेंगलुरु. कर्नाटक (Karnataka) में कैबिनेट विस्तार (Cabinet Expansion) के बाद भी मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (BS Yediyurappa) की मुश्किलें कम नहीं हुईं हैं. गुरुवार को सरकार ने मंत्रियों को उनके विभाग सौंपे हैं. इसके बाद कई कैबिनेट मंत्री अपने पोर्टफोलियो को लेकर नाखुश नजर आ रहे हैं. खास बात है कि राज्य में लंबे समय से कैबिनेट विस्तार अटका हुआ था, जिसकी वजह से सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार को लेकर कई तरह की अटकलें लगने लगी थी.

गुरुवार को नए मंत्रियों को विभागों का आवंटन किया गया. इसके कुछ घंटों बाद ही मंत्रियों के चेहरे पर असंतोष नजर आने लगा था. जिसके संबंध में मंत्रियों ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर के घर बैठक की. इस बैठक में कम से कम तीन मंत्री केसी नारायण गौड़ा, एन नागराजू और के गोपालैया शामिल थे. इस बैठक में चर्चा की गई कि मुख्यमंत्री तक कैसे अपनी बात को पहुंचाया जाए. कुछ दिनों पहले ही सीएम येडियुरप्पा ने अपने कैबिनेट में नए चेहरों को शामिल किया है.

एन नागराजू ने कहा कि वे एक्साइज पोर्टफोलियो से खुश नहीं हैं. उनका मानना है कि इससे उनका पद कम हुआ है क्योंकि इससे पहले गठबंधन की सरकार में उन्होंने हाउसिंग मंत्री के तौर पर काम किया था. उन्होंने कहा ‘एक्साइज विभाग में मेरे करने के लिए ज्यादा कुछ नहीं है और मैंने ऐसा पोर्टफोलियो मांगा था, जहां विकास की ज्यादा संभावनाएं हों.’ उन्होंने बताया कि यह जानकारी सीएम तक पहुंचा दी गई है.

यह भी पढ़ें: कर्नाटक: येडियुरप्पा के खिलाफ दिल्ली कूच की तैयारी में 15 विधायक, मंत्रिमंडल में जगह देने की मांगवहीं, के गोपालैया ने कहा कि वे मुख्यमंत्री से पूछेंगे कि क्यों उन्हें खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले के विभाग से हटाया गया है. उन्होंने कहा ‘हम उनसे मिलेंगे और पूछना चाहते हैं कि हमने क्या गलती कर दी है.’ एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली गठबंधन की सरकार को गिराने में बड़ी भूमिका निभाई थी. जबकि, सीएम का कहना है कि नए मंत्रियों के बीच किसी भी तरह का मतभेद नहीं है.

राज्य में राजस्व मंत्री आर अशोक ने कहा है कि सभी मतभेदों को सुलझा लिया गया है. उन्होंने बताया कि साथ में असंतुष्ट लोगों को दोबारा पोर्टफोलियो नहीं बदले जाने का वादा किया है. कैबिनेट विस्तार के मुद्दे पर शुरू से ही येडियुरप्पा सरकार पर काफी दबाव था. एक ओर गठबंधन सरकार से बीजेपी में शामिल हुए नेता मंत्री पद चाहते थे. वहीं, दूसरी ओर बीजेपी नेताओं के बीच मंत्रीमंडल में जगह को लेकर असंतोष पैदा हुआ.

हालांकि, बीते दिनों सीएम येडियुरप्पा ने साफ कर दिया था कि सभी नाराज नेता दिल्ली जाकर पार्टी हाईकमान से मुलाकात कर सकते हैं. वहीं, इन नाराज मंत्रियों ने कुछ दिनों पहले कर्नाटक पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) से मुलाकात करने की इच्छा जताई थी, लेकिन शाह ने मौके पर बात नहीं की थी.




Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

Antilia bomb scare case: Mansukh Hiren’s autopsy kept ‘reserved’ – GoIndiaNews

Image Source : INDIA TV Antilia bomb scare case: Mansukh Hiren’s autopsy kept ‘reserved’ The …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *