Friday, February 26, 2021
Breaking News
Home / New Delhi नई दिल्ली / Padmashri Award To Two Former Doctor Of Aiims Dr. Jn Pandey And Dr. Chandrakant S. Pandava – चिकित्सा के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने पर एम्स के दो पूर्व डॉक्टरों को पद्मश्री सम्मान – GoIndiaNews

Padmashri Award To Two Former Doctor Of Aiims Dr. Jn Pandey And Dr. Chandrakant S. Pandava – चिकित्सा के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने पर एम्स के दो पूर्व डॉक्टरों को पद्मश्री सम्मान – GoIndiaNews

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Tue, 26 Jan 2021 05:43 AM IST

डॉ. चंद्रकांत एस पांडव (बाएं) और डॉ. जेएन पांडे (दाएं)
– फोटो : amar ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

दिल्ली एम्स के दो पूर्व डॉक्टरों को मिला पद्मश्री अवॉर्ड चिकित्सा के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने पर दिल्ली एम्स के दो पूर्व डॉक्टरों को पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित किया जा रहा है। सोमवार को सरकार ने दिल्ली एम्स के पूर्व प्रोफेसर डॉ. जेएन पांडे और डॉ. चंद्रकांत एस पांडव को पद्मश्री अवॉर्ड देने की घोषणा की है। 

डॉ. जेएन पांडे का पिछले वर्ष 23 मई को कोविड संक्रमण के चलते निधन हुआ था। दिल्ली एम्स में पल्मोनरी विभागाध्यक्ष के तौर पर डॉ. पांडे ने कई शोध व ऐतिहासिक उपलब्धियां संस्थान को दिलाई थीं। एम्स से सेवानिवृत्त होने के बाद वह नई दिल्ली स्थित सीताराम भरतिया इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड रिसर्च में वरिष्ठ सलाहकार के रूप में कार्यरत थे। जहां कोरोना महामारी के दौरान मरीजों का उपचार करते हुए वह खुद संपर्क में आने पर संक्रमित हुए और हालत बिगड़ने पर उनकी मौत हो गई। 

मूलरूप से उत्तर प्रदेश के शिकोहाबाद निवासी डॉ. जितेंद्र नाथ पांडे दिल्ली एम्स से ही चिकित्सीय अध्ययन करने के बाद अपनी सेवाएं देना शुरू कर दिया था। अपने कार्यकाल में इन्होंने तत्कालीन राष्ट्रपति के चिकित्सक के रुप में भी जिम्मेदारी संभाली थी। 

दिल्ली एम्स के दो पूर्व डॉक्टरों को मिला पद्मश्री अवॉर्ड चिकित्सा के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने पर दिल्ली एम्स के दो पूर्व डॉक्टरों को पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित किया जा रहा है। सोमवार को सरकार ने दिल्ली एम्स के पूर्व प्रोफेसर डॉ. जेएन पांडे और डॉ. चंद्रकांत एस पांडव को पद्मश्री अवॉर्ड देने की घोषणा की है। 

डॉ. जेएन पांडे का पिछले वर्ष 23 मई को कोविड संक्रमण के चलते निधन हुआ था। दिल्ली एम्स में पल्मोनरी विभागाध्यक्ष के तौर पर डॉ. पांडे ने कई शोध व ऐतिहासिक उपलब्धियां संस्थान को दिलाई थीं। एम्स से सेवानिवृत्त होने के बाद वह नई दिल्ली स्थित सीताराम भरतिया इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड रिसर्च में वरिष्ठ सलाहकार के रूप में कार्यरत थे। जहां कोरोना महामारी के दौरान मरीजों का उपचार करते हुए वह खुद संपर्क में आने पर संक्रमित हुए और हालत बिगड़ने पर उनकी मौत हो गई। 

मूलरूप से उत्तर प्रदेश के शिकोहाबाद निवासी डॉ. जितेंद्र नाथ पांडे दिल्ली एम्स से ही चिकित्सीय अध्ययन करने के बाद अपनी सेवाएं देना शुरू कर दिया था। अपने कार्यकाल में इन्होंने तत्कालीन राष्ट्रपति के चिकित्सक के रुप में भी जिम्मेदारी संभाली थी। 

Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

Amroha Case Shabnam Killed 7 Of His Family With Boyfriend See Photos Of Next Day Of Crime And Know How She Get Arrested – शबनम केसः कैसे चार दिन के अंदर पुलिस ने सुलझा लिया सात हत्याओं का राज, क्या हुआ था वारदात की अगली सुबह देखें तस्वीरें – GoIndiaNews

अमरोहा कांड के बाद की तस्वीरें, शबनम रोते हुए बयां कर रही थी रात की …