Monday, April 12, 2021
Breaking News
Home / Uttar Pradesh उत्तर प्रदेश / UP में कोरोना टीकाकरण पर चिकित्सा महानिदेशक का बयान, कहा- ‘कुछ लोगों में रिएक्शन होना स्वाभाविक लक्षण’ – GoIndiaNews

UP में कोरोना टीकाकरण पर चिकित्सा महानिदेशक का बयान, कहा- ‘कुछ लोगों में रिएक्शन होना स्वाभाविक लक्षण’ – GoIndiaNews

लखनऊ. देश की सबसे बड़ी आबादी वाले उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) आम जनता को दी जा रही है. फिलहाल अभी 60 साल से उपर के लोगों को वैक्सीन दी जा रही है. इसके तमाम पहलूओं पर न्यूज़ 18 ने बात की है प्रदेश के चिकित्सा महानिदेशक डॉ. डीएस नेगी (Dr. DS negi) से.

सवाल – शहर में टीका लगाने वाले अस्पतालों की सूची और कैसे चुने कि किसमें लगवाना चाहिए ?

जवाब – देखिये अभी तो सरकारी अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में टीका लगाया जाना शुरु किया गया है. यहां टीका मुफ्त में लोगों को लगाया जा रहा है. जहां तक प्राइवेट अस्पतालों में टीकाकरण की बात है तो जल्द ही इसकी लिस्ट जारी कर दी जायेगी. उन प्राइवेट अस्पतालों में टीकाकरण की सुविधा मिल सकेगी जो आयुष्मान भारत योजना के तहत इनपैनल्ड होंगे. यहां 250 रूपये प्रति डोज के हिसाब से टीका लगाया जायेगा.सवाल – छोटे शहर जहां कोरोना बहुत नहीं फैला है वहां टीका लेना चाहिए, इस पर किसी जानकार की राय ?

जवाब – किसी शहर में यदि कोरोना के बहुत कम केस आये होंगे तब भी उस शहर में टीकाकरण उतनी ही सक्रियता  से किया जायेगा. ठीक वैसे ही जैसे भले ही पोलियो भारत से खत्म हो गया है, लेकिन इसके टीके हर जगह लगाये जाते हैं और दवा पिलाई जाती है.

सवाल – कौन -कौन सी वैक्सीन उपलब्ध हैं. उनके नफा नुकसान क्या हैं ?

जवाब – अभी तो दो वैक्सीन उपलब्ध हो रही हैं. को-वैक्सीन और कोविशील्ड. इन्हीं में से कोई एक वैक्सीन लोगों को लगाई जा रही है और आगे भी लगाई जायेगी.

सवाल – वैक्सीन दिये जाने के बाद होने वाले रिएक्शन के बारे में क्या कहेंगे ?

जवाब – बहुत लोग ऐसे होते हैं जिन्हें किसी भी टीके के बाद कुछ रिएक्शन की शिकायतें आती हैं. ये स्वाभाविक समस्या होती है. इसीलिए ये तय किया गया है कि टीका लगाने के बाद व्यक्ति को कम से कम आधे घण्टे तक वहीं अस्पताल में रहना होगा. यदि टीके से कोई रिएक्शन होगा तो इतने टाइम में पता चल जायेगा. हालांकि रिएक्शन का दर बहुत ही कम है.

सवाल – जिन्हें डायबटीज, हायपरटेंशन दिल, किडनी और लिवर के रोग हैं उनपर इस वैक्सीन का क्या असर होगा ?

जवाब – देखिये अभी दो तरह के लोगों के लिए टीकाकरण शुरु किया गया है. पहले वे जो 60 साल की उम्र पार कर चुके हैं. ऐसे लोगों को शत प्रतिशत टीका लगवाया जाना है. दूसरे ऐसे लोग हैं जिनकी उम्र 45 से 60 के बीच में हैं लेकिन, इन्हें डायबटीज, हायपरटेंशन, दिल, किडनी और लिवर की बीमारी है. 45 साल से उपर के ऐसे सभी व्यक्तियों को भी टीका लगाया जायेगा. हां, ये जरूर है कि इन्हें इस बाबत डॉक्टर से लिखवाना पड़ेगा. ऐसे मरीजों पर भी वैक्सीन का वही असर होगा जो सामान्य लोगों पर होगा.सवाल – टीका के लिए कैसे रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है ?

जवाब– जिन्हें टीका लगवाना है उन्हें भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के एप्प Co-win  पर रजिस्ट्रेशन करना होगा. इसे डाउनलोजड करके मोबाइल में इन्सटॉल कर लें. फिर रजिस्ट्रेशन करवायें.

सवाल – जहां टीका लगाया जा रहा है क्या वो जगह कोविड फैलाने का बहुत बड़ा केंद्र तो नहीं हो जायेगी?

जवाब – कोविड 19 के लिए टीकाकरण जरूर शुरु हो गया है लेकिन, कोरोना से बचने के सभी उपाय जारी रहेंगे. टीकाकरण केन्द्रों पर भी विशेष सावधानी बरती जा रही है. कहीं से कोई लापरवाही नहीं होने दी जायेगा.

सवाल – सेंटर पर जल्दी से टीका लगवाने या फिर कम इंतजार करने के उपाय क्या होंगे, अगर दिए गए समय से लेट हो जाएं तो क्या करना होगा?

जवाब – देखिये अभी तो वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई है. लोगों को जल्दी टीका लग जाये यही हमारी प्राथमिकता है. हालांकि कोई दिये गये टाइम से लेट हो जाये तो क्या होगा, इसपर अभी कोई मंतव्य नहीं बना है. ऐसा कोई मामला सामने आयेगा तो देखा जायेगा.



Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

सीएम योगी की बड़ी पहल, देवलोक काशी बनेगा विश्‍व की सबसे बड़ी संस्‍कृत नगरीyogi government will established more sanskrit schools in varansi upns – GoIndiaNews

देवलोक काशी बनेगा विश्‍व की सबसे बड़ी संस्‍कृत नगरी (File photo) सीएम (CM) की पहल …