Thursday, May 13, 2021
Breaking News
Home / Lucknow लखनऊ / Panchayat Election In Up : Pardesi Voters Also Trump Card In Panchayat Elections Of Uttar Pradesh – ग्राउंड रिपोर्ट : उत्तर प्रदेश के पंचायत चुनाव में परदेसी वोटर भी हैं ट्रंप कार्ड – GoIndiaNews

Panchayat Election In Up : Pardesi Voters Also Trump Card In Panchayat Elections Of Uttar Pradesh – ग्राउंड रिपोर्ट : उत्तर प्रदेश के पंचायत चुनाव में परदेसी वोटर भी हैं ट्रंप कार्ड – GoIndiaNews

मनीष मिश्र, सिद़्धार्थनगर/बस्ती/बहराइच/चित्रकूट
Published by: दुष्यंत शर्मा
Updated Mon, 12 Apr 2021 05:39 AM IST

सिद्धार्थनगर के बढ़नी से नेपाल में इन दिनों बढ़ गई है लोगों की आवाजाही…
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

यूपी के पंचायत चुनावों में दूसरे राज्यों में रह रहे परदेसी मतदाताओं के साथ लॉकडाउन में गांव लौटे मजदूरों की भूमिका काफी अहम है। पूर्वांचल और बुंदेलखंड के जिलों से दिल्ली-मुंबई जैसे शहरों में गए लाखों मजदूरों को बुलाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। प्रत्याशी उन्हें लाने के लिए टिकट और बसों का इंतजाम करने में लग गए हैं। 

केन्द्र सरकार की एक रिपोर्ट के अनुसार यूपी के 32.49 लाख मजदूर गांव लौटे। इनमें बड़ी संख्या पूर्वांचल के 20 जिलों के मजदूरों की है। वापस आए मजदूरों में आधे के आसपास काम की तलाश में लौट गए। उन्हें भी वापस बुलाया जा  रहा है। 

चुनाव यूपी में, प्रचार मुंबई में…मुंबई में उत्तर भारतीय महासंघ के महासचिव इंजीनियर इम्तियाज अली का गांव के 350 मतदाताओं पर प्रभाव है। वह बताते हैं, “कई लोग तो मुंबई में मीटिंग करके गए हैं। हमारी प्रॉपर्टी गांव में है, इसलिए दखल रखना पड़ता है। मजदूरों के साथ मीटिंग होती रहती है, किसे वोट देना है? हम उनकी मदद करते हैं तो वो हमारी बात सुनते हैं।

मतदाता के आने-जाने का इंतजाम प्रत्याशी करते हैं
नेपाल सीमा से सटे सिद्धार्थनगर जिले के गांव बजहा में 3287 मतदाता हैं, इनमें से 500 बड़े शहरों में रहते हैं। अन्य गांवों के 20-30% वोटर भी बड़े शहरों में रहते हैं। परदेसी वोटरों को मतदान में लाने के लिए आने-जाने का किराया-भाड़ा देने के साथ ही गांवों में कॉलोनी और अन्य सुविधाओं का लालच दिया जाता है। 

मुंबई या दिल्ली से लोग पूरी की पूरी बोगी बुक कर चुनावों में अपने प्रत्याशी को जिताने के लिए पहुंचते हैं। धनौरा में प्रधानी का चुनाव लड़ चुके मुन्ना यादव बताते हैं, हमारे गांव में मुस्लिम आबादी अधिक है, कुल मतदाता 1700 के करीब हैं, इनमें से 400 लोग बाहर बड़े शहरों में रहते हैं। प्रत्याशी उनके आने जाने का इंतजाम करते हैं।

विस्तार

यूपी के पंचायत चुनावों में दूसरे राज्यों में रह रहे परदेसी मतदाताओं के साथ लॉकडाउन में गांव लौटे मजदूरों की भूमिका काफी अहम है। पूर्वांचल और बुंदेलखंड के जिलों से दिल्ली-मुंबई जैसे शहरों में गए लाखों मजदूरों को बुलाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। प्रत्याशी उन्हें लाने के लिए टिकट और बसों का इंतजाम करने में लग गए हैं। 

केन्द्र सरकार की एक रिपोर्ट के अनुसार यूपी के 32.49 लाख मजदूर गांव लौटे। इनमें बड़ी संख्या पूर्वांचल के 20 जिलों के मजदूरों की है। वापस आए मजदूरों में आधे के आसपास काम की तलाश में लौट गए। उन्हें भी वापस बुलाया जा  रहा है। 

चुनाव यूपी में, प्रचार मुंबई में…मुंबई में उत्तर भारतीय महासंघ के महासचिव इंजीनियर इम्तियाज अली का गांव के 350 मतदाताओं पर प्रभाव है। वह बताते हैं, “कई लोग तो मुंबई में मीटिंग करके गए हैं। हमारी प्रॉपर्टी गांव में है, इसलिए दखल रखना पड़ता है। मजदूरों के साथ मीटिंग होती रहती है, किसे वोट देना है? हम उनकी मदद करते हैं तो वो हमारी बात सुनते हैं।

मतदाता के आने-जाने का इंतजाम प्रत्याशी करते हैं

नेपाल सीमा से सटे सिद्धार्थनगर जिले के गांव बजहा में 3287 मतदाता हैं, इनमें से 500 बड़े शहरों में रहते हैं। अन्य गांवों के 20-30% वोटर भी बड़े शहरों में रहते हैं। परदेसी वोटरों को मतदान में लाने के लिए आने-जाने का किराया-भाड़ा देने के साथ ही गांवों में कॉलोनी और अन्य सुविधाओं का लालच दिया जाता है। 

मुंबई या दिल्ली से लोग पूरी की पूरी बोगी बुक कर चुनावों में अपने प्रत्याशी को जिताने के लिए पहुंचते हैं। धनौरा में प्रधानी का चुनाव लड़ चुके मुन्ना यादव बताते हैं, हमारे गांव में मुस्लिम आबादी अधिक है, कुल मतदाता 1700 के करीब हैं, इनमें से 400 लोग बाहर बड़े शहरों में रहते हैं। प्रत्याशी उनके आने जाने का इंतजाम करते हैं।

Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

Rush On Vaccination Centres – स्लॉट अलॉट नहीं, पहुंचे टीका लगवाने, लौटना पड़ा, टीकाकरण केंद्रों पर उमड़ी भीड़, प्रोटोकॉल की उड़ी धज्जियां – GoIndiaNews

ख़बर सुनें ख़बर सुनें राजधानी में सोमवार को टीकाकरण केंद्रों पर लोगों की भीड़ उमड़ने …