Thursday, May 13, 2021
Breaking News
Home / Ghaziabad गाज़ियाबाद / Ghaziabad – हिंडन मोक्ष स्थली पर बिगड़े हालात, शाम तक 60 शवों का अंतिम संस्कार – GoIndiaNews

Ghaziabad – हिंडन मोक्ष स्थली पर बिगड़े हालात, शाम तक 60 शवों का अंतिम संस्कार – GoIndiaNews

ख़बर सुनें

हिंडन मोक्ष स्थली पर बिगड़े हालात
शाम तक 60 शवों का अंतिम संस्कार
गाजियाबाद। कोरोना महामारी के बीच हिंडन मोक्ष स्थली पर अंतिम संस्कार के लिए बड़ी संख्या में शवों व उनके साथ पहुंच रही भीड़ से हालत और बिगड़ गए। शुक्रवार को भी ज्यादा शवों के पहुंचने के चलते टोकन व्यवस्था फेल हो गई। अंतिम संस्कार के लिए दो से ढाई घंटे की वेटिंग रही। हिंडन मोक्ष स्थली पर शुक्रवार शाम छह बजे तक 60 शवों का अंतिम संस्कार हुआ, इनमें 20 शव कोरोना मरीजों के थे। हालांकि कोरोना से मरने वालों की पुष्टि प्रशासन ने नहीं की है। हिंडन मोक्ष स्थली में 62 प्लेटफार्म हैं, लेकिन अंतिम संस्कार के बाद परिजनों द्वारा अस्थियां नहीं उठाए जाने के कारण अधिकांश प्लेटफार्म खाली न होने से भी दिक्कत हुई।
हिंडन मोक्ष स्थली पर एक घंटे में सात से आठ शवों का अंतिम संस्कार हो रहा है। बीच-बीच में अंतिम संस्कार के सभी प्लेटफार्म फुल हो जाने से मोक्ष स्थली प्रबंधन समिति को टोकन देने बंद करने पड़े। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मोक्ष स्थली पर शवों के साथ 150 से अधिक लोगों के पहुंचने से व्यवस्थाएं चरमरा गई। शवों के लगातार पहुंचने, वेटिंग बढ़ने और प्लेटफार्म फुल होने से लोगों का सब्र जवाब देने लगा। ऐसे में प्रबंधन समिति को लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा। बीते एक सप्ताह से अंतिम संस्कार की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शुक्रवार को हालात सबसे ज्यादा खराब दिखाई दिए। हिंडन मोक्ष स्थली पर अंतिम संस्कार के लिए जमीन वाले 41, इलेक्ट्रिक 9 और 12 ट्रे वाले प्लेटफार्म हैं।
संक्रमण के बीच शमशान में अंतिम संस्कार के लिए शवों के साथ पहुंच रही लोगों की भीड़ परेशानी बढ़ा रही है। हिंडन मोक्ष स्थली संचालन समिति प्रबंधक आचार्य मनीष ने जिला प्रशासन से स्थिति सामान्य होने तक अंतिम संस्कार के लिए आने वाले आम शवों के साथ 20 लोगों और कोरोना के मामलों में केवल पांच लोगों को आने की अनुमति का आदेश देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि मोक्ष स्थली पर हर घंटे सात से आठ अंतिम संस्कार कराए जा रहे हैं। इसके बावजूद कई लोगों को इंतजार करना पड़ रहा है। लोगों की भीड़ पहुंचने से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना और व्यवस्थाओं को निभाने में परेशानी आ रही है। जिला प्रशासन और नगर निगम की ओर से मोक्ष स्थली पर नियमित सैनिटाइजेशन कराया जाना चाहिए।
विद्युत शवदाह गृह बार-बार दे रहा धोखा
नगर निगम के विद्युत शवदाह गृह के बार बार धोखा दे जाने के कारण हिंडन मोक्ष स्थली पर अंतिम संस्कार के लिए भीड़ बढ़ गई। तकनीकी कारणों के चलते शुक्रवार सुबह को विद्युत शवदाह गृह ने काम करना बंद कर दिया। जबकि निगम अधिकारियों ने लगातार विद्युत शवदाह गृह के चलने के कारण कुछ देर के लिए सिस्टम को ब्रेक देने की बात कही। दूसरी ओर, विद्युत शवदाह गृह के न चलने और अंतिम संस्कार की वेटिंग बढ़ने से लोगों का गुस्सा कर्मचारियों पर फूटा। नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तोमर ने हिंडन मोक्ष स्थली के साथ विद्युत शवदाह गृह का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने नगर स्वास्थ्य अधिकारी को सैनिटाइजेशन कराने के निर्देश दिए।
कोट
विद्युत शवदाह गृह में कोई तकनीकी दिक्कत नहीं है। वह नियमित रूप से काम कर रहा है। लगातार शवदाह गृह के चलने के कारण मशीनरी को कुछ देर का ब्रेक दिया गया।
डॉ. मिथिलेश, नगर स्वास्थ्य अधिकारी, नगर निगम
गाजियाबाद में कोरोना के चलते अगर कोई भी मौत होती है तो उसे तत्काल आधिकारिक पोर्टल पर अपडेट किया जाता है। हिंडन श्मशान घाट पर इसलिए भी अंतिम संस्कार कराने वाले मामले बढ़ रहे हैं, क्योंकि दिल्ली व नोएडा से भी लोग अंतिम संस्कार के लिए शव यहां पर लेकर आ रहे हैं।
– डॉ. एनके गुप्ता, सीएमओ

हिंडन मोक्ष स्थली पर बिगड़े हालात

शाम तक 60 शवों का अंतिम संस्कार

गाजियाबाद। कोरोना महामारी के बीच हिंडन मोक्ष स्थली पर अंतिम संस्कार के लिए बड़ी संख्या में शवों व उनके साथ पहुंच रही भीड़ से हालत और बिगड़ गए। शुक्रवार को भी ज्यादा शवों के पहुंचने के चलते टोकन व्यवस्था फेल हो गई। अंतिम संस्कार के लिए दो से ढाई घंटे की वेटिंग रही। हिंडन मोक्ष स्थली पर शुक्रवार शाम छह बजे तक 60 शवों का अंतिम संस्कार हुआ, इनमें 20 शव कोरोना मरीजों के थे। हालांकि कोरोना से मरने वालों की पुष्टि प्रशासन ने नहीं की है। हिंडन मोक्ष स्थली में 62 प्लेटफार्म हैं, लेकिन अंतिम संस्कार के बाद परिजनों द्वारा अस्थियां नहीं उठाए जाने के कारण अधिकांश प्लेटफार्म खाली न होने से भी दिक्कत हुई।

हिंडन मोक्ष स्थली पर एक घंटे में सात से आठ शवों का अंतिम संस्कार हो रहा है। बीच-बीच में अंतिम संस्कार के सभी प्लेटफार्म फुल हो जाने से मोक्ष स्थली प्रबंधन समिति को टोकन देने बंद करने पड़े। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मोक्ष स्थली पर शवों के साथ 150 से अधिक लोगों के पहुंचने से व्यवस्थाएं चरमरा गई। शवों के लगातार पहुंचने, वेटिंग बढ़ने और प्लेटफार्म फुल होने से लोगों का सब्र जवाब देने लगा। ऐसे में प्रबंधन समिति को लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा। बीते एक सप्ताह से अंतिम संस्कार की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शुक्रवार को हालात सबसे ज्यादा खराब दिखाई दिए। हिंडन मोक्ष स्थली पर अंतिम संस्कार के लिए जमीन वाले 41, इलेक्ट्रिक 9 और 12 ट्रे वाले प्लेटफार्म हैं।

संक्रमण के बीच शमशान में अंतिम संस्कार के लिए शवों के साथ पहुंच रही लोगों की भीड़ परेशानी बढ़ा रही है। हिंडन मोक्ष स्थली संचालन समिति प्रबंधक आचार्य मनीष ने जिला प्रशासन से स्थिति सामान्य होने तक अंतिम संस्कार के लिए आने वाले आम शवों के साथ 20 लोगों और कोरोना के मामलों में केवल पांच लोगों को आने की अनुमति का आदेश देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि मोक्ष स्थली पर हर घंटे सात से आठ अंतिम संस्कार कराए जा रहे हैं। इसके बावजूद कई लोगों को इंतजार करना पड़ रहा है। लोगों की भीड़ पहुंचने से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना और व्यवस्थाओं को निभाने में परेशानी आ रही है। जिला प्रशासन और नगर निगम की ओर से मोक्ष स्थली पर नियमित सैनिटाइजेशन कराया जाना चाहिए।

विद्युत शवदाह गृह बार-बार दे रहा धोखा

नगर निगम के विद्युत शवदाह गृह के बार बार धोखा दे जाने के कारण हिंडन मोक्ष स्थली पर अंतिम संस्कार के लिए भीड़ बढ़ गई। तकनीकी कारणों के चलते शुक्रवार सुबह को विद्युत शवदाह गृह ने काम करना बंद कर दिया। जबकि निगम अधिकारियों ने लगातार विद्युत शवदाह गृह के चलने के कारण कुछ देर के लिए सिस्टम को ब्रेक देने की बात कही। दूसरी ओर, विद्युत शवदाह गृह के न चलने और अंतिम संस्कार की वेटिंग बढ़ने से लोगों का गुस्सा कर्मचारियों पर फूटा। नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तोमर ने हिंडन मोक्ष स्थली के साथ विद्युत शवदाह गृह का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने नगर स्वास्थ्य अधिकारी को सैनिटाइजेशन कराने के निर्देश दिए।

कोट

विद्युत शवदाह गृह में कोई तकनीकी दिक्कत नहीं है। वह नियमित रूप से काम कर रहा है। लगातार शवदाह गृह के चलने के कारण मशीनरी को कुछ देर का ब्रेक दिया गया।

डॉ. मिथिलेश, नगर स्वास्थ्य अधिकारी, नगर निगम

गाजियाबाद में कोरोना के चलते अगर कोई भी मौत होती है तो उसे तत्काल आधिकारिक पोर्टल पर अपडेट किया जाता है। हिंडन श्मशान घाट पर इसलिए भी अंतिम संस्कार कराने वाले मामले बढ़ रहे हैं, क्योंकि दिल्ली व नोएडा से भी लोग अंतिम संस्कार के लिए शव यहां पर लेकर आ रहे हैं।

– डॉ. एनके गुप्ता, सीएमओ

Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

Ghaziabad News – होम आइसोलेशन में ज्यादातर मरीज दे रहे कोरोना को मात – GoIndiaNews

ख़बर सुनें ख़बर सुनें होम आइसोलेशन में बड़ी संख्या में लोग कोरोना को दे रहे …