Monday, July 26, 2021
Breaking News
Home / Business व्यापार / Asian Development Bank Has Downgraded Economic Growth Forecast Of India To 10 Percent – झटका: महामारी के प्रकोप के कारण एडीबी ने घटाया भारत की आर्थिक वृद्धि का अनुमान – GoIndiaNews

Asian Development Bank Has Downgraded Economic Growth Forecast Of India To 10 Percent – झटका: महामारी के प्रकोप के कारण एडीबी ने घटाया भारत की आर्थिक वृद्धि का अनुमान – GoIndiaNews

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: ‌डिंपल अलावाधी
Updated Tue, 20 Jul 2021 12:04 PM IST

सार

एडीबी ने चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि के अनुमान को 11 फीसदी से घटाकर 10 फीसदी कर दिया है।

ख़बर सुनें

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने मंगलवार को कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के कारण चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि के अनुमान को घटाकर 10 फीसदी कर दिया है।
एडीपी ने इससे पहले अप्रैल में वृद्धि दर के 11 फीसदी रहने का अनुमान जताया था।

वित्त वर्ष 2022-23 के लिए बढ़ाया वृद्धि का पूर्वानुमान
बहुपक्षीय वित्त पोषण एजेंसी ने एशियाई वृद्धि परिदृश्य (एडीओ) में कहा कि मार्च 2021 को समाप्त वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही में भारत की जीडीपी वृद्धि दर 1.6 फीसदी थी, जिसके चलते पूरे वित्त वर्ष के दौरान संकुचन आठ फीसदी के पूर्वानुमान के मुकाबले 7.3 फीसदी रहा। इसके अलावा वित्त वर्ष 2022-23 के लिए वृद्धि के पूर्वानुमान को सात फीसदी से बढ़ाकर 7.5 फीसदी कर दिया गया है। 

2021 में 8.1 फीसदी रह सकती है चीन की वृद्धि दर 
एडीपी ने कहा कि शुरुआती संकेतकों से पता चलता है कि लॉकडाउन के उपायों में ढील के बाद आर्थिक गतिविधियां फिर शुरू हो गई हैं। एडीओ 2021 में वित्त वर्ष 2021 (मार्च 2022 को समाप्त) के लिए वृद्धि अनुमान 11 फीसदी से घटाकर 10 फीसदी कर दिया गया है, जो बड़े आधार प्रभाव को दर्शाता है। एडीबी ने कहा कि चीन की वृद्धि दर 2021 में 8.1 फीसदी और 2022 में 5.5 फीसदी रह सकती है।

वित्त वर्ष 2022 में 10.5 फीसदी रह सकती है वृद्धि दर- आरबीआई
हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि वित्त वर्ष 2022 के लिए RBI द्वारा अनुमानित सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 10.5 फीसदी है। उन्होंने कहा कि, ‘मुझे विकास के अनुमान को नीचे की ओर संशोधित करने का कोई कारण नहीं दिखता है। पिछले वित्त वर्ष की शुरुआत जहां भारी गिरावट के साथ हुई थी, वहीं चौथी तिमाही में अर्थव्यवस्था वृद्धि की राह पर लौटी और जनवरी-मार्च 2021 तिमाही में 1.6 फीसदी वृद्धि हासिल की गई।

विस्तार

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने मंगलवार को कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के कारण चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि के अनुमान को घटाकर 10 फीसदी कर दिया है।

एडीपी ने इससे पहले अप्रैल में वृद्धि दर के 11 फीसदी रहने का अनुमान जताया था।

वित्त वर्ष 2022-23 के लिए बढ़ाया वृद्धि का पूर्वानुमान

बहुपक्षीय वित्त पोषण एजेंसी ने एशियाई वृद्धि परिदृश्य (एडीओ) में कहा कि मार्च 2021 को समाप्त वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही में भारत की जीडीपी वृद्धि दर 1.6 फीसदी थी, जिसके चलते पूरे वित्त वर्ष के दौरान संकुचन आठ फीसदी के पूर्वानुमान के मुकाबले 7.3 फीसदी रहा। इसके अलावा वित्त वर्ष 2022-23 के लिए वृद्धि के पूर्वानुमान को सात फीसदी से बढ़ाकर 7.5 फीसदी कर दिया गया है। 

2021 में 8.1 फीसदी रह सकती है चीन की वृद्धि दर 

एडीपी ने कहा कि शुरुआती संकेतकों से पता चलता है कि लॉकडाउन के उपायों में ढील के बाद आर्थिक गतिविधियां फिर शुरू हो गई हैं। एडीओ 2021 में वित्त वर्ष 2021 (मार्च 2022 को समाप्त) के लिए वृद्धि अनुमान 11 फीसदी से घटाकर 10 फीसदी कर दिया गया है, जो बड़े आधार प्रभाव को दर्शाता है। एडीबी ने कहा कि चीन की वृद्धि दर 2021 में 8.1 फीसदी और 2022 में 5.5 फीसदी रह सकती है।

वित्त वर्ष 2022 में 10.5 फीसदी रह सकती है वृद्धि दर- आरबीआई

हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि वित्त वर्ष 2022 के लिए RBI द्वारा अनुमानित सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 10.5 फीसदी है। उन्होंने कहा कि, ‘मुझे विकास के अनुमान को नीचे की ओर संशोधित करने का कोई कारण नहीं दिखता है। पिछले वित्त वर्ष की शुरुआत जहां भारी गिरावट के साथ हुई थी, वहीं चौथी तिमाही में अर्थव्यवस्था वृद्धि की राह पर लौटी और जनवरी-मार्च 2021 तिमाही में 1.6 फीसदी वृद्धि हासिल की गई।

Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

Rbi Raised Personal Loan Limit For Bank Directors To 5 Crore Rupees From 25 Lakh Rupees – खुशखबर: बोर्ड डायरेक्टर्स के लिए पर्सनल लोन के नियमों में आरबीआई ने किया बदलाव, पांच करोड़ तक ले सकेंगे लोन – GoIndiaNews

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: ‌डिंपल अलावाधी Updated Sat, 24 Jul 2021 …