Breaking News
Home / Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश / Teachers Of Govt Schools Teaching Children By Forming Whatsapp Group – व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर बच्चों को पढ़ा रहे सरकारी स्कूलों के शिक्षक – GoIndiaNews

Teachers Of Govt Schools Teaching Children By Forming Whatsapp Group – व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर बच्चों को पढ़ा रहे सरकारी स्कूलों के शिक्षक – GoIndiaNews

अमर उजाला नेटवर्क, शिमला
Updated Wed, 25 Mar 2020 12:48 PM IST

ख़बर सुनें

कोरोना वायरस से बचाव के लिए बंद किए गए सरकारी स्कूलों में व्हाट्सऐप ग्रुप बनाकर बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। सरकारी स्कूलों के शिक्षक वीडियो शेयर कर बच्चों को पाठ पढ़ा रहे हैं।  ऑनलाइन ही छुट्टियों में होमवर्क्र भी दिया जा रहा है। प्रदेश के कई क्षेत्रों में शिक्षकों ने अभिभावकों के फोन नंबर एकत्र कर व्हाटसऐप ग्रुप बना दिए हैं। इन ग्रुप के माध्यम से रोजाना बच्चों से संपर्क बनाया गया है।

समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना कार्यालय ने इस तकनीक से पढ़ाई सुचारु रखने की पहल की है। इसके अलावा शिक्षक एनसीईआरटी के ई-कंटेंट का भी अधिक से अधिक प्रयोग करने की अपील कर रहे हैं। एनसीईआरटी की वेबसाइट पर जाकर कक्षावार और विषयवार पढ़ाई की जा सकती है। कई स्कूलों के शिक्षक व्हाटसऐप ग्रुप पर वीडियो अपलोड कर बच्चों को संबधित विषय की पढ़ाई करवा रहे हैं। समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक आशीष कोहली ने बताया कि सबसे अच्छे वीडियो यू ट्यूब पर भी शेयर किए जाएंगे।

निदेशालय का तकनीकी स्टाफ घर बैठकर इस पूरी प्रक्रिया को मानीटर कर रहा है। बच्चों को दिए जाने वाले होमवर्क की रिपोर्ट स्कूल खुलने पर एकत्र की जाएगी। उन्होंने प्रदेश के सभी शिक्षकों से इस बाबत सहयोग करने को कहा है। उधर, प्रदेश के अधिकांश निजी स्कूलों में बीते एक सप्ताह से इस तकनीक के माध्यम से पढ़ाई करवाई जा रही है। निजी स्कूलों ने अभिभावकों से संपर्क बनाए रखने के लिए मोबाइल ऐप भी बना लिए हैं।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए बंद किए गए सरकारी स्कूलों में व्हाट्सऐप ग्रुप बनाकर बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। सरकारी स्कूलों के शिक्षक वीडियो शेयर कर बच्चों को पाठ पढ़ा रहे हैं।  ऑनलाइन ही छुट्टियों में होमवर्क्र भी दिया जा रहा है। प्रदेश के कई क्षेत्रों में शिक्षकों ने अभिभावकों के फोन नंबर एकत्र कर व्हाटसऐप ग्रुप बना दिए हैं। इन ग्रुप के माध्यम से रोजाना बच्चों से संपर्क बनाया गया है।

समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना कार्यालय ने इस तकनीक से पढ़ाई सुचारु रखने की पहल की है। इसके अलावा शिक्षक एनसीईआरटी के ई-कंटेंट का भी अधिक से अधिक प्रयोग करने की अपील कर रहे हैं। एनसीईआरटी की वेबसाइट पर जाकर कक्षावार और विषयवार पढ़ाई की जा सकती है। कई स्कूलों के शिक्षक व्हाटसऐप ग्रुप पर वीडियो अपलोड कर बच्चों को संबधित विषय की पढ़ाई करवा रहे हैं। समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक आशीष कोहली ने बताया कि सबसे अच्छे वीडियो यू ट्यूब पर भी शेयर किए जाएंगे।

निदेशालय का तकनीकी स्टाफ घर बैठकर इस पूरी प्रक्रिया को मानीटर कर रहा है। बच्चों को दिए जाने वाले होमवर्क की रिपोर्ट स्कूल खुलने पर एकत्र की जाएगी। उन्होंने प्रदेश के सभी शिक्षकों से इस बाबत सहयोग करने को कहा है। उधर, प्रदेश के अधिकांश निजी स्कूलों में बीते एक सप्ताह से इस तकनीक के माध्यम से पढ़ाई करवाई जा रही है। निजी स्कूलों ने अभिभावकों से संपर्क बनाए रखने के लिए मोबाइल ऐप भी बना लिए हैं।

Source link

About admin

Check Also

Suket Devta Mela 2020 In Mandi In Himachal Pradesh – मोबाइल से गर्भ स्थल को लाइव कर थड़ों पर निभाई पूजा की रस्म – GoIndiaNews

अमर उजाला नेटवर्क, सुंदरनगर (मंडी) Updated Mon, 30 Mar 2020 12:38 PM IST ख़बर सुनें …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *