Breaking News
Home / Azamgarh आजमगढ़ / Lockdown Banaras Home delivery starts with 1000 vehicles app also launched VIDEO – GoIndiaNews

Lockdown Banaras Home delivery starts with 1000 vehicles app also launched VIDEO – GoIndiaNews

अब आपको जरूरी सामानों के लिए भी घर से बाहर निकलने की जरूरत नहीं है। न किसी हेल्पलाइन को फोन करना है। बस, अपने घर के नजदीक गल्ला-किराना के दुकानदारों को फोन करके सामानों की सूची नोट करा दीजिए। सामान आपके घर पहुंच जाएगा। इसके लिए जिला प्रशासन ने लॉकडाउन के चौथे दिन हर घर तक आवश्यक वस्तुओं को पहुंचाने के लिए डोर स्टेप डिलीवरी सेवा की शुरुआत की है। गुरुवार से 1000 से ज्यादा वाहन को लगाया है।

इसकी शुरुआत जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा और एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने पहड़िया व विशेश्वरगंज मंडी से वाहनों को हरी झंडी दिखाकर की। वहीं, लॉकडाउन के दौरान घर में जरूरी सामानों की आपूर्ति के लिए नगर निगम ने एक एप लांच किया है। एप से शहर के 62 व्यापारिक प्रतिष्ठान जुड़े हैं। कोविड-19 सेफ काशी एप से शहरवासी होम डिलीवरी के लिए सामान बुक कर सकेंगे।

लॉक डाउन के बाद लोगों के बाहर से निकलने और दुकानों के खुलने पर प्रतिबंध लगने के बाद आमजन में आवश्यक वस्तुएं लेने में काफी दिक्कत हो रही थी। मुख्यमंत्री इसे गंभीरता से लेते हुए जिला प्रशासन को डोर स्टेप डिलीवरी व्यवस्था शुरू करने का निर्देश दिया। डीएम व एसएसपी ने सबसे पहले पहड़िया मंडी से 105 वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इन वाहनों पर फल व सब्जी लदी हैं। इन्हें शहर के विभिन्न इलाकों में वितरित किया जायेगा। इसमें कई वाहनों से शहरभर में ठेले वालों को भी फल व सब्जी सप्लाई की जाएगी।

डीएम ने विशेश्वरगंज आढ़त मंडी से आटा, दाल, चावल व अन्य सामानों का वितरण व डोर स्टेप डिलीवरी के लिए लगभग 150 वाहनों की शुरुआत की। इसके अलावा  412 दो पहिया वाहनों से भी जरूरी वस्तुओं के  पहुंचाने की सर्विस शुरू हुई है। जिलाधिकारी  ने बताया कि 125 होलसेलर की ओर से रिटेलरों तक सर्विस देने के लिए वाहन दौड़ाए जा रहे हैं। बताया कि कुछ निजी कम्पनियां भी होम डिलीवरी के लिए  सामने आई हैं। आने वाले दो-तीन दिन में सामानों की किल्लत नहीं होगी।

पास की दुकान से ही लें सामान 
विश्वेश्वरगंज में नगर उद्योग व्यापार मंडल के सहयोग से होम डिलीवरी सेवा शुरू करने के बाद डीएम कौशलराज ने बताया कि दो तरीके से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखी जाएगी। पहली फुटकर व्यापारियों को थोक मंडी में सामान लेने नहीं जाना होगा और दूसरा आम लोगों को घर के नजदीक की दुकान तक भी जाने की जरूरूत नहीं है। जो सामान अपने पड़ोस के दुकानदार को फोन पर नोट कराएंगे, उसे ये व्यापारी सैनिक फुटकर व्यापारी या संबंधित ग्राहक के घरों तक पहुंचा देंगे। संगठन के महामंत्री प्रतीक गुप्ता ने बताया कि 50 टाटा मैजिक, डिलीवरी ऑटो और मोटरसाइकिल के माध्यम से डोर टू डोर अभियान की शुरुआत हुई है। इस दौरान अध्यक्ष संजीव सिंह बिल्लू, उपाध्यक्ष अलखनाथ गोस्वामी, अशोक सेठ, अजीत सिंह बग्गा, राजेश त्रिवेदी, शोमनाथ मौर्या, चंद्रकांत अग्रवाल, सुमित मौर्या, मनोज रावत, मंगलेश जायसवाल, राधेश्याम गौड़ आदि मौजूद थे।

आज से अप्रैल का आधा राशन बंटेगा 
लॉकडाउन के दौरान पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों के लिए प्रशासन ने बिना अंगूठे लगाए पचास फीसदी राशन मूल्य चुका कर देने का शासन ने निर्णय लिया है। वहीं अंत्योदय कार्ड धारकों को अप्रैल का राशन नि: शुल्क दिया जाएगा। डीएम के निर्देश पर जिलापूर्ति अधिकारी ने सभी विक्रेताओं को निर्देशित किया है। उनका है कि अप्रैल का राशन 27 से 31 मार्च के बीच में निर्धारित रेट पर कार्डधारक ले सकते हैं।  बाकी 50 फीसदी राशन एक अप्रैल से अंगूठा लगाकर बंटना शुरू हो जाएगा। 

स्विगी, पतंजलि समेत पांच कम्पनियों ने शुरू की होम डिलीवरी
जिला प्रशासन के निर्देश पर आई-बास्केट, स्विगी, दृष्टि, पतंजलि, ग्रोसरी प्लेनेट आदि कम्पनियों ने भी डोर स्टेप डिलीवरी शुरू कर दी है। इन कम्पनियों के लगभग 170 ज्यादा कर्मचारियों के जरिए आवश्यक वस्तुएं पहुंचायी जा रही हैं।

 

मंडियों में न लगाएं भीड़, ठेले से घर तक पहुंचाएं सब्जियां व फल 
डीएम व एसएसपी ने गुरुवार को पहडिया मंडी, विशेश्वरगंज मंडी व सिगरा स्थित सब्जी मंडी का निरीक्षण किया। सिगरा सब्जी मंडी में व्यापारियों से पूछताछ की। व्यावहारिक दिक्कतों की जानकारी ली। डीएम ने कहा कि थोक सब्जी मंडली से सिर्फ रिटेल दुकानदारों को ही सब्जी उपलब्ध करायी जायेगी और रिटेल दुकानदार व ठेले वाले गलियों व मुहल्लों में जाकर सब्जियां उपलब्ध करायेंगे। उन्होंने सब्जी मण्डियों में भीड-भाड़ कम करने के लिए कहा। अधिक से अधिक ठेलों पर सब्जियां लादकर मुहल्लों में पहुंचाने की अपील की। रेलवे स्टेशन के सामने फ्लाईओवर के नीचे कुछ व्यक्तियों के इकट्ठा होने पर पूछताछ की। इस दौरान ही उन्होंने नगर आयुक्त को निर्देशित किया कि उन्हें वहां से हटाकर आश्रय स्थलों में शिफ्ट किया जाए।  डीएम ने रेलवे अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि रेलवे के जो भी हॉल, वेटिंग रूम, विश्रामालय खाली पड़े हैं। वहां पर बाहर रहने वालों को शिफ्ट कराया जाए। रेलवे स्टेशन के पास बने आश्रय स्थल को भी देखा। यहां भी शिफ्ट करने के लिए कहा। 

होम डिलीवरी के लिए एप लांच

लॉकडाउन के दौरान घर में जरूरी सामानों की आपूर्ति के लिए नगर निगम ने गुरुवार को एक एप लांच किया है। एप से शहर के 62 व्यापारिक प्रतिष्ठान जुड़े हैं। कोविड-19 सेफ काशी एप से शहरवासी होम डिलीवरी करा सकेंगे। 
स्मार्ट सिटी योजना के तहत नगर निगम ने यह पहल की है। नगर निगम का दावा है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना से जंग जीतने के प्रयास के रूप में यह पहला एप है। गूगल प्ले स्टोर पर कोविड 19 सेफ काशी एप को डाउनलोड किया जा सकता है। इसमें कंट्रोल रूम के नंबर, कोरोना के बारे में बनारस का अपडेट मिलने के साथ डॉक्टर से परामर्श भी लिया जा सकता है। जिला प्रशासन की ओर से उठाए कदमों की जानकारी के साथ ही जरूरी सूचनाएं इस एप के माध्यम से मिलेंगी। इसके अलावा कोरोना से बचाव के लिए क्या करें क्या न करें के बारे में भी जागरूक किया जाएगा। नगर आयुक्त गौरांग राठी ने कहा कि लोग इस एप को डाउनलोड कर घर में रहकर कोरोना को हराने में सहयोग करें। शहर के 62 व्यापारी होम डिलीवरी के लिए इस एप से जुड़े हुए हैं। उनके फोन नंबर पर कॉल करके घर पर जरूरी सामानों की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा सकती है।  उन्होंने कहा कि शहर में जरूरी सामानों की कमी नहीं है। इसलिए घबराहट में ज्यादा वस्तुएं एकत्र न करें।



Source link

About admin

Check Also

आजमगढ़ः कोरोना का संदिग्ध आइसोलेशन वार्ड में हुआ भर्ती, 14 मरीजों में से दो की रिपोर्ट का इंतजार – GoIndiaNews

आजमगढ़ में चक्रपानपुर राजकीय मेडिकल कॉलेज व सुपर फैसिलिटी अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में कोरोना के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *