Tuesday, October 19, 2021
Breaking News
Home / India भारत / Coal shortage was due to rains supply continued now says Union Coal Minister Pralhad Joshi – खत्म होगी बिजली की किल्लत, मंत्री बोले – GoIndiaNews

Coal shortage was due to rains supply continued now says Union Coal Minister Pralhad Joshi – खत्म होगी बिजली की किल्लत, मंत्री बोले – GoIndiaNews

नई दिल्ली. देश में कोयले की कमी को लेकर बने हुए संकट के बीच केंद्रीय कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कोयले की कमी का कारण बताया साथ ही उन्होंने कहा कि कल भारत में अब तक की सबसे ज्यादा कोयले की आपूर्ति की गई. जोशी ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा कि बारिश के कारण कोयले की कमी हो गई, जिससे अंतरराष्ट्रीय कीमतों में 60 रुपये से 190 रुपये प्रति टन की वृद्धि हुई. उन्होंने बताया कि इसके बाद, आयातित कोयला बिजली संयंत्र या तो 15-20 दिनों के लिए बंद हो गए या बहुत कम उत्पादन करने लगे. इससे घरेलू कोयले पर दबाव पड़ा.

कोयला मंत्री ने कहा कि कल हमने 1.94 मिलियन टन की आपूर्ति की जो क घरेलू कोयले की अब तक की सबसे ज्यादा आपूर्ति है. उन्होंने कहा जहां तक राज्यों का सवाल है, इस साल जून तक हमने उनसे स्टॉक बढ़ाने का अनुरोध किया, उनमें से कुछ ने कहा कि “कृपया अभी कोयला मत भेजें.”

प्रल्हाद जोशी ने कहा कि हमने अतीत में अपने बकाये के बावजूद भी आपूर्ति जारी रखी है. जोशी ने कहा हम राज्यों से स्टॉक बढ़ाने का अनुरोध कर रहे हैं. उन्होंने यह आश्वासन दिया है कि कोयले की कमी नहीं होगी.

देश में कोयले के संकट के मद्देनजर केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह और केंद्रीय कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और कोयले के परिवहन को बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की. सूत्रों के मुताबिक सरकार बिजली की मांग को पूरा करने के लिए बड़े आयातित कोयला आधारित बिजली संयंत्रों का उपयोग करना चाह रही है.

इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को बिजली मंत्री आर के सिंह और कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी के साथ बैठक की थी. घंटे भर चली बैठक के दौरान तीनों मंत्रियों ने बिजली संयंत्रों को कोयले की उपलब्धता और इस समय बिजली की मांग पर चर्चा की.

बता दें बिजली मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक बिजली की खपत आठ अक्टूबर को 390 करोड़ यूनिट थी, जो इस महीने अब तक (1-9 अक्टूबर) सबसे ज्यादा थी. बिजली की मांग में तेजी देश में चल रहे कोयला संकट के बीच चिंता का विषय बन गई है.

गौरलतब है कि देश के ताप बिजली घरों में कोयले की कमी का संकट जल्द थमता नहीं दिख रहा है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कोयले के चार दिन से कम भंडार वाले बिजली संयंत्रों की संख्या रविवार को बढ़कर 70 हो गई, जो एक सप्ताह पहले तीन अक्टूबर को 64 थी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

MVA govt most corrupt in Maharashtra history: Fadnavis | India News – GoIndiaNews

MUMBAI: Calling the Uddhav Thackeray government the most corrupt in the history of Maharashtra, leader …