Breaking News
Home / Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश / First Time Heavy Purchase Of Wheat In Sirmaur, All Records Broken – सिरमौर में पहली बार गेहूं की भारी खरीद, टूटे सारे रिकॉर्ड – GoIndiaNews

First Time Heavy Purchase Of Wheat In Sirmaur, All Records Broken – सिरमौर में पहली बार गेहूं की भारी खरीद, टूटे सारे रिकॉर्ड – GoIndiaNews

हितेश शर्मा, अमर उजाला, नाहन (सिरमौर)
Updated Tue, 26 May 2020 10:16 AM IST

ख़बर सुनें

कोरोना के दौर के बीच हिमाचल के सिरमौर के किसानों को बड़ी राहत मिली है। यहां पहली बार ऐसा हुआ कि जहां गेहूं की खरीद के पिछले सारे रिकॉर्ड टूटे गए और किसान भी मालामाल हो गए। सिरमौर में अब तक तकरीबन 747 किसानों से गेहूं की खरीद हो चुकी है। इनमें 704 किसान पांवटा साहिब उपमंडल के हैं। जबकि, कालाअंब के 43 किसान अब तक गेहूं बेच चुके हैं।

कालाअंब क्षेत्र के किसानों को पहली बार अपनी फसल घरद्वार बेचने को मिली। 1925 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से फूड कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (एफसीआई) ने गेहूं की खरीद की है। लिहाजा, किसानों को कोरोना संकट का दौर बड़ा मुनाफा लेकर आया है। जब केंद्र व प्रदेश की सरकारें कोरोना महामारी में आर्थिक तंगी का सामना कर रही हैं। वहीं, किसानों के लिए यह घड़ी किसी बड़े मुनाफे से कम नहीं हैं।

किसानों को जहां घरद्वार अपनी फसल के लिए बाजार मिला। वहीं, फसल से वाजिब दाम भी मिल गए। हालांकि, सिरमौर के पांवटा साहिब में पहले से गेहूं की खरीद होती आई है। इस बार कालाअंब को भी पहली बार गेहूं खरीद का केंद्र बनाया गया। सिरमौर में एफसीआई 24 मई तक कुल 21115 क्विंटल गेहूं की खरीद कर चुका है। इसमें 20258 क्विंटल गेहूं पांवटा क्षेत्र व 857 क्विंटल गेहूं कालाअंब इलाके से खरीदी गई है।

इस साल लगभग तीन गुणा ज्यादा गेहूं खरीदी जा चुकी है। पिछले साल पांवटा साहिब गेहूं खरीद केंद्र से एफसीआई को 8780 क्विंटल गेहूं खरीद के लिए मिली थी। लेकिन, इस बार किसानों ने कोरोना संकट के बीच गेहूं बेचने में काफी उत्साह दिखाया। पिछले साल जहां गेहूं के दाम 1700 प्रति क्विंटल के करीब थे तो इस साल यह दाम बढ़कर 1925 प्रति क्विंटल मिले।

इस मर्तबा गेहूं की रिकॉर्ड तोड़ खरीद हुई है। एफसीआई ने सिरमौर के दो केंद्रों से 21115 क्विंटल गेहूं खरीदी है। खरीद कार्य अब भी जारी है। पहली बार किसानों ने एफसीआई को इतनी भारी मात्रा में गेहूं बेचने में रुची दिखाई। कालाअंब को इस बार खरीद केंद्र बनाया गया था। किसानों को 1925 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब के भुगतान किया गया है। सिरमौर में आज तक इतनी बड़ी खरीद कभी नहीं हुई थी।-डॉ. राजेश कौशिक, कृषि उपनिदेशक सिरमौर।

कोरोना के दौर के बीच हिमाचल के सिरमौर के किसानों को बड़ी राहत मिली है। यहां पहली बार ऐसा हुआ कि जहां गेहूं की खरीद के पिछले सारे रिकॉर्ड टूटे गए और किसान भी मालामाल हो गए। सिरमौर में अब तक तकरीबन 747 किसानों से गेहूं की खरीद हो चुकी है। इनमें 704 किसान पांवटा साहिब उपमंडल के हैं। जबकि, कालाअंब के 43 किसान अब तक गेहूं बेच चुके हैं।

कालाअंब क्षेत्र के किसानों को पहली बार अपनी फसल घरद्वार बेचने को मिली। 1925 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से फूड कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (एफसीआई) ने गेहूं की खरीद की है। लिहाजा, किसानों को कोरोना संकट का दौर बड़ा मुनाफा लेकर आया है। जब केंद्र व प्रदेश की सरकारें कोरोना महामारी में आर्थिक तंगी का सामना कर रही हैं। वहीं, किसानों के लिए यह घड़ी किसी बड़े मुनाफे से कम नहीं हैं।

किसानों को जहां घरद्वार अपनी फसल के लिए बाजार मिला। वहीं, फसल से वाजिब दाम भी मिल गए। हालांकि, सिरमौर के पांवटा साहिब में पहले से गेहूं की खरीद होती आई है। इस बार कालाअंब को भी पहली बार गेहूं खरीद का केंद्र बनाया गया। सिरमौर में एफसीआई 24 मई तक कुल 21115 क्विंटल गेहूं की खरीद कर चुका है। इसमें 20258 क्विंटल गेहूं पांवटा क्षेत्र व 857 क्विंटल गेहूं कालाअंब इलाके से खरीदी गई है।


आगे पढ़ें

पिछले साल खरीदी थी 8780 क्विंटल गेहूं

Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

Apple Scab In Shimla Mandi And Kullu – शिमला, मंडी और कुल्लू में सेब की फसल को लगा स्कैब रोग – GoIndiaNews

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी। *Yearly subscription for just ₹249 + Free …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *