Breaking News
Home / BREAKING NEWS / 94 year old Nagpur woman met family after 40 years of disappearence| 94 वर्षीय महिला लापता होने के 40 साल बाद फिर अपनी फैमिली से मिली, लेकिन… – GoIndiaNews

94 year old Nagpur woman met family after 40 years of disappearence| 94 वर्षीय महिला लापता होने के 40 साल बाद फिर अपनी फैमिली से मिली, लेकिन… – GoIndiaNews

भोपाल: महाराष्ट्र से करीब चार दशक पहले लापता हुई 94 वर्षीय एक महिला इंटरनेट की मदद से फिर से अपने परिवार से मिली है. हालांकि, दुर्भाग्यवश जब पंचूबाई नाम की यह महिला तीन दिन पहले नागपुर में अपने पोते के घर पहुंची तो वह अपने बेटे से नहीं मिल सकी क्योंकि तीन साल पहले उसके बेटे की मौत हो चुकी है. 

इस महिला को वर्ष 1979—80 में एक ट्रक चालक ने मध्य प्रदेश के दमोह जिले की सड़क पर दयनीय हालत में पैदल चलते हुए पाया था और वह कहां की रहने वाली है, इसका सुराग नहीं मिल पाया था. ट्रक चालक इसरार खान ने बताया, ‘जब उसे पाया गया था, तब उसे मधुमक्खियों ने बुरी तरह से काट रखा था और वह साफ—साफ नहीं बोल पा रही थी.’ उन्होंने कहा, ‘मेरे पिताजी इस महिला को अपने घर ले आये और वह उनके परिवार के साथ रहने लगी। मैं उस वक्त एक छोटा सा बच्चा था.’

खान ने बताया, ‘हम उसे अच्छन मौसी कहने लगे. वह मानसिक रूप से विक्षिप्त थी और प्राय: मराठी में अस्पष्ट रूप से बोलती थी, जिसे हम समझ नहीं सके.’ उन्होंने कहा, ‘मैंने भी कई बार उससे उसके परिवार के बारे में पूछा, लेकिन वह कुछ नहीं बोल पाई.’ खान ने उसके बारे में फेसबुक पर भी लिखा, लेकिन इसके बाद भी उसके परिजनों के बारे में कोई सुराग नहीं मिला.

मानसिक दशा नहीं थी ठीक
उन्होंने कहा, ‘वह खंजमा नगर के बारे में प्राय: कहती थी. गूगल में सर्च करने पर यह जगह नहीं मिली. इसके बाद इस साल चार मई को लॉकडाउन के दौरान जब मैं घर में था, तब हमने फिर उसके गृहनगर के बारे में पूछा. इस बार उसने परसापुर बताया. इसके बाद हमने इसे गूगल पर ढूंढा और महाराष्ट्र में एक परसापुर मिला.’ 

इसके बाद खान ने सात मई को परसापुर में एक दुकानदार अभिषेक से फोन पर संपर्क किया और इस महिला के बारे में बताया. किरार समुदाय के अभिषेक ने खान को बताया कि परसापुर कस्बे के पास एक गांव है, जिसे खंजमा नगर कहते हैं.

खान ने बताया, ‘मैंने सात मई की रात साढ़े आठ बजे अपनी मौसी का वीडियो व्हाट्सऐस पर अभिषेक को भेजा. इसके बाद उसने इस वीडियो को किरार समुदाय में शेयर किया. मुझे मध्यरात्रि के आसपास अभिषेक का फोन आया और उसने कहा कि इस महिला की पहचान उसके रिश्तेदारों ने कर ली है. लेकिन लॉकडाउन के कारण उसे तब उसके घर नहीं भेजा जा सका.’ उन्होंने कहा कि इसके बाद इस महिला को 17 जून को उसका पोता पृथ्वी भैयालाल नागपुर अपने घर ले गया. पृथ्वी का पैतृक गांव खंजमा नगर है.

(इनपुट: एजेंसी भाषा)



Source link

About GoIndiaNews

GoIndiaNews™ - देश की धड़कन is an Online Bilingual News Channel - गो इंडिया न्यूज़ पर पढ़ें देश-विदेश के ताज़ा हिंदी समाचार और जाने क्रिकेट, बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, धर्म, मनोरंजन, बॉलीवुड, खेल और राजनीति की हर बड़ी खबर

Check Also

sachin pilot gave his first reaction on twitter, Rajasthan Political crisis, Ashok Gehlot | डिप्टी CM और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद पायलट ने किया ये ट्वीट – GoIndiaNews

अगलीखबर योगी सरकार करेगी लघु उद्योगों का विकास, गांवों में खोले जाएंगे कॉमन फैसिलिटी सेंटर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *